Diwali Puja Vidhi 2018 In Hindi Lakshmi Puja Vidhi Step by Step At Home

Diwali Puja Vidhi 2018 In Hindi : आपकों दिवाली की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएं, दीपों के पर्व पर Lakshmi Puja Vidhi से माँ लक्ष्मी गणेश जी और सरस्वती का पूजन किया जाए तो घर परिवार में किसी तरह की कमी नही रहती हैं. यहाँ आपके साथ Step by Step Diwali 2018 Puja Vidhi शेयर कर रहे हैं. 7.05 बजे से रात 9 बजे तक वृष लग्न में लक्ष्मी पूजन शुभ माना गया हैं. Diwali Lakshmi Puja के समय मंत्र के उच्चारण के साथ साथ की गई पूजा को सफल माना जाता है तथा जिससे सुफल की प्राप्ति भी होती हैं. daily lakshmi puja vidhi से कुछ अलग हटके दीपावली की विशेष विधि के साथ पूजा की जानी चाहिए. diwali puja muhurat करने के साथ साथ किसी यंत्र अथवा अपने मोबाइल फोन से मंत्र भी बजाए जा सकते हैं. यदि आप वाचन के जरिये दीपावली का लक्ष्मी पूजन कर रहे है तो यहाँ से भी आप मंत्र पढ़ सकते हैं.

Diwali Puja Lakshmi Puja Vidhi 2018 In Hindi Lakshmi Puja Vidhi

lakshmi puja vidhi at home Simple Laxmi Ganesh Pooja Kaise kare, Deepawali Poojan Ka sahi Tarika Kya hai: हरेक हिन्दू धर्म अनुयायी चाहे वो बड़ा हो या छोटा, धनवान हो या गरीब वह रोजाना लक्ष्मी पूजन अवश्य ही करता हैं. फ्राइडे और दीपावली लक्ष्मी पूजन की विधि में काफी समानताएं हैं. पूजा स्थल पर बैठने से पूर्व अच्छी तरह नहा धोकर अपने मन को एकाग्रचित कर माँ का ध्यान लगाकर की गई पूजा अवश्य सुफल देती हैं. कार्तिक अमावस्या बड़ी दिवाली के दिन सुख-समृद्धि की कामना के लिए माँ लक्ष्मी, सरस्वती एवं गणेश जी की पूजा होती हैं. घर के आंगन में अथवा द्वार पर घी का दीपक जलाना चाहिए.

Diwali Puja Samagri – दीपावली पूजन सामग्री:

दिवाली लक्ष्मी पूजन में रोली, , कुमकुम, चावल, पान, सुपारी, लौग, इलायची, धूप, कपूर, अगरबत्ति, दीपक, रुई, कलावा, श्रीफल, शहद, दही, गंगाजल, गुड़, धनिया, फल, फूल, जौ, गेहूँ, दूर्वा, चंदन, सिंदूर, घृत, पचामृत, मेवे, खील, बताशे, गंगाजल, यज्ञोपवीत, श्वेत वस्त्र, इत्र, चौकी, कलश, कमल गट्टे की माला, शख, महालक्ष्मी जी गणेश जी एवं सरस्वती माँ की एक संयुक्त फोटो या मिटटी की तस्वीर, थाली, किसी धातु का एक सिक्का जिसमें लक्ष्मी या गणेश जी का छाप हो ,मिष्ठान या प्रसाद सामग्री एक बड़ा दीपक आदि वस्तुओं को दिवाली पूजन सामग्री में सम्मिलित किया जाना चाहिए.

Diwali Puja Vidhi (दीपावली पूजा की विधि)

दिवाली पर, अमावस्या दिवस के दौरान, भगवान गणेश और श्री लक्ष्मी की नई स्थापित मूर्तियों की पूजा की जाती है। लक्ष्मी-गणेश पूजा, कुबेर पूजा और बहई-खता पूजा (DIWALI PUJA MANTRA) के अलावा भी किया जाता है।

दिवाली पूजा दिवस पर, पूरे दिन उपवास मनाया जाना चाहिए। उपवास या तो निर्जल (पानी के बिना) यानी पानी या फलाहर (फल) के बिना यानी फल के साथ या केवल दूध के साथ शरीर की क्षमता और व्यक्ति की शक्ति के आधार पर होना चाहिए।

Lakshmi Puja Vidhi In Hindi At Home

दीपावली की पूजा के प्रथम चरण में अपने घर के उस स्थान अथवा कोने को चुने जहाँ पूजा पाठ किया जाता हैं. ध्यान रखे, यह स्थान दक्षिण दिशा में नही होना चाहिए. अब उस स्थान पर लकड़ी का पट्टा या आसन पर मां लक्ष्मी, सरस्वती व गणेश जी की मूर्तियाँ दिवाली के शुभ मुहूर्त में स्थापित करे.

मूर्तियों तस्वीरों चित्रों के निचे स्वच्छ सफेद वस्त्र जरुर बिछाए इसके लिए नया तोलिया उपयोग में लिया जा सकता हैं. मूर्ति स्थापना के बाद कलश से थोडा सा जल लेकर उन पर छिडकाव करे तथा उन्हें इस मंत्र द्वारा पवित्र करे.

ऊँ अपवित्र: पवित्रो वा सर्वावस्थां गतोपि वा। य: स्मरेत् पुण्डरीकाक्षं स: वाह्याभंतर: शुचि:।।

सबसे पहले अर्ध्य पंचामृत रोली अक्षत एवं कुम्कुम के साथ गणेश जी का पूजन करे इसके बाद पूजा की थाली में कुम्कुम को भीगोकर चावल के दानों के साथ स्वास्तिक का चित्र बनाए तथा उनकें मध्य एक रूपये का सिक्का रखकर थोड़े से चावल उन पर डाल ले.

अब बारी बारी से माता लक्ष्मी माँ सरस्वती की पूजा दिवाली पूजन मंत्र के उच्चारण के साथ करते जाए. अपने मन को एकाग्रचित रखे तथा प्रसाद का भोग लगाकर माँ से अपनी मनोकामनाएं पूर्ण करने का आशीर्वाद मांगे तथा जाने अनजाने में हुई किसी भूल के लिए माफ़ी भी मांगे. इसके बाद सभी परिवार वालों में पूजन की प्रसाद को वितरित कर सबजन माँ के जयकारे लगाएं.


निवेदन : आशा करता हूँ Diwali Puja Vidhi 2018 का यह लेख आपकों पसंद आया होगा. दिवाली पूजा विधि अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ भी शेयर करे. अन्य लेख भी नीचे दिए गये है उन्हें भी पढ़े.

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *