Diwali 2018 Shubh muhurat puja shubh yog and laxmi puja timing Diwali 2018 Date

Diwali 2018 Shubh muhurat puja shubh yog and laxmi puja timing Diwali 2018 Date: शुभ दिवाली 2018 मुहूर्त पूजा समय तथा लक्ष्मी पूजन के योग व अच्छे मंगल मुहूर्त में पूजन करने पर ही माँ लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं. दीपावली का मुहूर्त 7 नवम्बर को क्या रहने वाला हैं, ज्योतियों के मुताबिक़ क्या शुभ संयोग हैं. लक्ष्मी गणेश पूजा कैसे करेDiwali 2018 Puja Vidhi Date Time subh muhurat, diwali 2018, diwali subh muhurat, diwali puja vidhi में आपकों इसकी जानकारी यहाँ दे रहे हैं. आपकों बता दे हिन्दुओं के सबसे महत्वपूर्ण पर्व दीपावली आने में महज  कुछ ही दिन बचे हैं. सभी लक्ष्मी पूजा व दीपावली के स्वागत की तैयारियों में जुट गये होंगे.

दीपावली 2018 शुभ मुहूर्त लक्ष्मी पूजा समय व पूजन की विधिdiwali 2018 date subu muhurat puja vidhi subh yog laxmi pujan vidhi

diwali 2018 date subu muhurat puja vidhi subh yog laxmi pujan vidhi: इस साल कार्तिक अमावस्या की तिथि 7 नवम्बर बुधवार के दिन है इसी दिन दीपो का त्योहार दिवाली मनाया जाएगा, ज्योतिषियों की माने तो शुभ दिवाली पूजन का ऐसा संयोग इस बार मिल रहा है जो सात वर्षों के बाद हो रहा हैं. सही मुहूर्त एवं पूजा विधि से लक्ष्मी जी का पूजन करने से आपके जीवन में ढेर सारी धन, समृद्धि और सुख का आगमन होने वाला हैं.

Diwali 2018 laxmi puja timing  Shubh muhurat puja shubh yog

लक्ष्मी पूजन में विशेष कर तुला राशि वाले लोगों के लिए करीब सात साल बाद तीन मुख्य ग्रह एक ही घर में मिल रहे हैं. सूर्य, शुक्र और चंद्रमा, इसके अलावा तुला सातवीं राशि है ही जबकि इस साल दिवाली की डेट भी 7 हैं.  संयोग मूलांक 7 का यह मिलन बहुत अच्छा माना जा रहा हैं, आप में से यदि किसी की जन्मतिथि भी 7 हैं, तो यह दीपावली आपके लिए और अधिक ख़ास होने वाली हैं.

दिवाली 2018 पर ऐसे बना लक्ष्मी योग

भारतीय आध्यात्म एवं ज्योतिष जगत की मान्यताओं पर गौर करे तो शुक्र को तुला राशि का स्वामी माना जाता हैं. शुक्र को धन दौलत सुख सम्रद्धि एवं एश्वर्य का स्वामी माना गया हैं. लक्ष्मी पूजन के लिए इस बार चन्द्रमा एवं सूर्य का भी अच्छा संयोग हैं, जैसे कि आपकों उपर समझाया गया है कि तुला राशि का जो योग मिल रहा है ऐसा कई सालों बाद ही देखने को मिलता हैं.

कालपुरुष की कुंडली में चंद्रमा चौथे घर का स्वामी और सूर्य पांचवें एवं शुक्र सातवें यानी साझेदारी, दाम्पत्य सुख, विदेश से लाभ दिलाने वाले ग्रहों की यह स्थिति हैं. ऋण धन की बचत तथा पैसे के आने सम्बन्धी का कारक शुक्र ही माना गया हैं. इस प्रकार के दिवाली संयोग के कारण व्यक्ति के जीवन में सुख संपदा को दिलाने वाला अच्छा मुहूर्त माना गया हैं.

विद्वानों की कुंडलियों के मुताबिक़ इस वर्ष के दीपावली मुहूर्त में दीपावली का दिन भले ही तुला के नीच का हो मगर उसने सूर्य जैसी उच्च राशि के स्थिर लग्न को प्राप्त किया हैं. यही वजह है कि यह संयोग इस बार खूब स्वास्थ्य एवं सम्रद्धि की बरसात करने वाला हैं. आरोग्य तथा सुख सम्रद्धि के साथ साथ आत्मिक बल भी मिलने वाला हैं.

2018 में दिवाली का शुभ मुहूर्त एवं पूजा समय

दिवाली के दिन अमृत काल सुबह 10 बजकर 54 मिनट से लेकर 12 बजकर 29 तक का यह पहला मुहूर्त सबसे शुभ हैं. अमृत काल का समय व्यापारिक लिहाज से भी काफी अच्छा हैं यदि आप धनतेरस के दिन कोई वस्तु की खरीद करने से वंचित रह गये हैं तो आप इस लग्न में भी खरीददारी कर सकते हैं.

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *